राहुल गांधी का मन की बात पर तंज, कहा- NEET-JEE पर चर्चा चाहते थे छात्र, लेकिन पीएम ने की खिलौने पर चर्चा

राहुल गांधी का मन की बात पर तंज, कहा- NEET-JEE पर चर्चा चाहते थे छात्र, लेकिन पीएम ने की खिलौने पर चर्चा

देश. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और केरल के वायनाड से सांसद राहुल गांधी ने रविवार को पीएम मोदी के 'मन की बात' कार्यक्रम को लेकर तंज कसा। पीएम मोदी के खिलौने का जिक्र करने पर राहुल गांधी ने कहा कि जेईई-नीट देने वाले परीक्षा पर चर्चा चाहते हैं, लेकिन पीएम मोदी ने खिलौने पर चर्चा की।

पीएम मोदी के 'मन की बात' कार्यक्रम खत्म होने के बाद राहुल गांधी ने ट्वीट किया, 'जेईई-नीट देने वाले चाहते थे कि पीएम 'परीक्षा पे चर्चा' करें लेकिन, पीएम ने 'खिलौने पे चर्चा' की। पीएम मोदी ने 'मन की बात' में स्थानीय खिलौनों की समृद्ध भारतीय परंपरा की विस्तृत चर्चा करते हुए स्टार्ट-अप एवं नए उद्यमियों से खिलौना उद्योग से बड़े पैमाने पर जुड़ने का आह्वान किया और कहा कि अब स्थानीय खिलौनों के लिए आवाज बुलंद करने का वक्त आ गया है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि विश्व खिलौना उद्योग सात लाख करोड़ रुपये से भी अधिक का है लेकिन इसमें भारत की हिस्सेदारी बहुत कम है। उन्होंने कहा, 'देश में स्थानीय खिलौनों की बहुत समृद्ध परंपरा रही है। कई प्रतिभाशाली और कुशल कारीगर हैं जो अच्छे खिलौने बनाने में महारत रखते हैं। लेकिन आपको यह जानकार आश्चर्य होगा कि विश्व खिलौना उद्योग सात लाख करोड़ रुपये से भी अधिक का है, सात लाख करोड़ रुपयों का इतना बड़ा कारोबार, लेकिन भारत का हिस्सा उसमें बहुत कम है।'

बता दें कि लाखों छात्र-छात्राएं पिछले कुछ समय से जेईई-नीट परीक्षाओं को टालने की गुहार लगा रहे हैं। वहीं, कांग्रेस समेत विपक्षी दल भी केंद्र सरकार से लगातार परीक्षाओं को टालने की वकालत कर रहे हैं। छात्रों के साथ विपक्षी दलों का कहना है कि कोरोना वायरस और कुछ जगहों पर बाढ़ की स्थिति को देखते हुए परीक्षाओं को कुछ समय के लिए टाल दिया जाए। हालांकि, केंद्र सरकार ने साफ किया है कि परीक्षाएं होंगी। कुल मिलाकर 25 लाख स्टूडेंट्स नीट और जेईई में शामिल होंगे। नीट के लिए 15.97 लाख विद्यार्थी पंजीकृत हैं। वहीं, जेईई मेंस के लिए हीं जेईई के लिए 8.58 लाख अभ्यर्थियों ने रजिस्ट्रेशन कराया है।