मुंगेर / कोरोना का दहशत बिहार में सबसे अधिक मुंगेर जिला में अबतक कुल 81 संक्रमित, पढ़े रिपोर्ट

मुंगेर / कोरोना का दहशत बिहार में सबसे अधिक मुंगेर जिला में अबतक कुल 81 संक्रमित, पढ़े रिपोर्ट

बिहार के मुंगेर में कोरोना का कहर कम होने का नाम ही नहीं ले रहा है। मुंंगेर के जमालपुर में कोरोना का प्रकोप बढ़ता ही जा रहा है। सोमवार सुबह आई रिपोर्ट में 13 और पॉजिटिव मरीज मिले हैं। इनमें आठ महिलाएं और पांच पुरुष शामिल है। इस तरह जिले में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 83 पहुंच गई है। यह बिहार का सबसे ज्यादा संक्रमित मरीज मिलने वाला जिला बन चुका है।  

इन जिलों में सबसे ज्यादा मरीज :

मुंगेर- 68

नालंदा- 34

पटना- 33

सीवान- 30

सघन जांच के आदेश : 

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पदाधिकारियों को निर्देश दिया है कि राज्य में बाहर से आये लोगों की सघन जांच कराएं। इसकी सतत निगरानी भी करते रहें। साथ ही उनके स्वास्थ्य परीक्षण पर ध्यान दें। उनके हेल्थ रिपोर्ट पर भी नजर बनाये रखें। वहीं, मुख्यमंत्री ने लोगों से भी अपील की कि वे अपनी ट्रैवल हिस्ट्री न छुपाएं। सामान्य सर्दी, खांसी और बुखार के लक्षण दिखने पर तुरंत जांच कराएं।  मुख्यमंत्री ने मुख्य सचिव एवं वरीय अधिकारियों के साथ कोरोना संक्रमण के संबंध में ताजा स्थिति की जानकारी ली और इससे बचाव के लिए किये जा रहे कार्यों की समीक्षा की और कई निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अभी छह जगहों पर कोरोना संक्रमण की जांच करायी जा रही है। तेजी से कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग, सैंपल एकत्र और जांच से ही समय रहते कोरोना चेन को तोड़ा जा सकेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्व में यह ट्रेंड देखने को मिल रहा था कि पहले विदेश से आए लोग संक्रमित हुए। उसके बाद उनके कॉन्टैक्ट्स के लोग संक्रमित पाए गए। संक्रमण की इस चेन को बहुत हद तक तोड़ा जा चुका है, किंतु अब नया ट्रेंड मिल रहा है कि जो प्रवासी मजदूर अथवा राज्य के बाहर से लोग आये हैं, उनमें संक्रमण पाया जा रहा है और उनके माध्यम से यह लोगों में फैल रहा है। उन्होंने कहा कि इसके लिए सघनता से घर-घर स्क्रीनिंग आवश्यक है, ताकि कोरोना संक्रमण के इस नये ट्रेंड को नियंत्रित किया जा सके। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना से संक्रमित मरीज लगातार ठीक होकर अपने घर जा रहे हैं। लोगों को घबराने की जरूरत नहीं है। लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते रहें। धैर्य रखें, सचेत रहें, सतर्क रहें, तभी स्वस्थ रहेंगे।

जरूरी उपकरणों की उपलब्धता सुनिश्चित करें

मुख्यमंत्री ने स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिया है कि हरसंभव स्रोत से वेंटिलेटर, टेस्टिंग किट, पीपीई किट, दवाओं एवं जरूरी उपकरणों की उपलब्धता सुनिश्चित करें, ताकि आवश्यकतानुसार समुचित उपयोग हो सके। इसके लिए राशि की कोई कमी नहीं होने दी जाएगी। अब भी कोरोना उन्मूलन कोष में पर्याप्त राशि उपलब्ध है। मुख्यमंत्री ने यह भी निर्देश दिया कि कोरोना संक्रमण के साथ-साथ एईएस, जेई, बर्ड फ्लू एवं स्वाइन फीवर को लेकर भी पूरी सतर्कता बरती जाय।  

बढ़ते जा रहे हैँ मरीज : 

बिहार के गोपालगंज में 9 और रोहतास में 6 सहित कुल 23 नए कोरोना पीड़ितों की रविवार को पहचान की गई। स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने बताया कि पूर्वी चंपारण में 4, जहानाबाद में 1, अरवल में 3, कोरोना वायरस के मरीज मिले हैं। इसके साथ ही राज्य में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़कर 287 हो गई।

अबतक 56 कोरोना मरीज ठीक होकर अपने घर लौटे

उन्होने बताया कि सभी कोरोना पॉजिटव मरीजों से उनके संपर्को की जानकारी ली जा रही है। वहीं, स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार अबतक 56 कोरोना के मरीज ठीक होकर अपने घर लौट गए है। इनमें पिछले 24 घंटे में 11 मरीजों कोंघर वापस भेज गया है। साथ ही, बिहार में अबतक 17 हजार 41 सैम्पलों की जांच की जा चुकी है।