CBSE 10वीं-12वीं की कंपार्टमेंट परीक्षाएं सितंबर में होंगी?

CBSE ने आज सुप्रीम कोर्ट में कहा कि इस साल परीक्षा केंद्रों की संख्या में दोगुने से अधिक की बढ़ोतरी की गई है. बता दें कि परीक्षा स्थग‍ित करने की मांग को लेकर छात्रों ने कोर्ट में याचिका डाली थी.

CBSE 10वीं-12वीं की कंपार्टमेंट परीक्षाएं सितंबर में होंगी?

CBSE ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि‌ परीक्षा सितंबर अंत में प्रस्तावित है
सीबीएसई ने कहा कि परीक्षा उन छात्रों के लिए भी होगी जो अपने अंकों में सुधार करना चाहते हैं
CBSE ने कहा कि इस साल परीक्षा केंद्रों की संख्या में दोगुने से अधिक की बढ़ोतरी की गई है
CBSE की दसवीं और बारहवीं क्लास की कंपार्टमेंट परीक्षा के मामले में आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई. सुनवाई में CBSE बोर्ड ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि‌ परीक्षा सितंबर अंत में प्रस्तावित है .

केंद्रीय माध्यमिक श‍िक्षा बोर्ड ने कोर्ट में कहा कि परीक्षा उन छात्रों के लिए भी होगी जो अपने अंकों में सुधार करना चाहते हैं.  CBSE ने आज सुप्रीम कोर्ट में अपना पक्ष रखते हुए बताया कि इस साल परीक्षा केंद्रों की संख्या में दोगुने से अधिक की बढ़ोतरी की गई है. बता दें कि परीक्षा स्थग‍ित करने की मांग को लेकर छात्रों ने कोर्ट में याचिका डाली थी. 

छात्रों की ओर से डाली गई याचिका में कहा गया कि कोरोना संकट के दौर में या तो परीक्षा रद्द कर दी जाए या छात्रों का पिछले प्रदर्शनों के आधार पर मूल्यांकन किया जाए. इस पर सुप्रीम कोर्ट ने CBSE को हलफनामा दाखिल करने को कहा था. अब इस मामले में गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट अगली सुनवाई करेगा. 

सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को सीबीएसई को कक्षा 10 और 12 के छात्रों द्वारा दायर याचिकाओं पर नोटिस जारी किया. न्यायमूर्ति एएम खानविल्कर की अध्यक्षता वाली तीन-न्यायाधीशों की पीठ ने अनिका सामवेदी के नेतृत्व में छात्रों द्वारा दायर याचिकाओं पर नोटिस जारी किया. कोर्ट ने सीबीएसई को 7 सितंबर तक जवाब दाखिल करने का निर्देश दिया और मामले को 10 सितंबर को सुनवाई के लिए आगे बढ़ा दिया है. 

बता दें कि सीबीएसई की कंपार्टमेंट परीक्षाओं में कक्षा 10 के करीब डेढ़ लाख छात्र और कक्षा 12 के 87,000 छात्र हिस्सा लेंगे. 

याचिकाकर्ताओं ने परीक्षाओं को रद्द करने के लिए CBSE के समक्ष एक याचिका दायर की थी, लेकिन इसे 6 अगस्त को खारिज कर दिया गया था.  6 अगस्त के इस फैसले के खिलाफ कोर्ट में याचिकाएं दायर की गई थीं. 

शुक्रवार को CBSE के लिए अपील करते हुए वकील रूपेश कुमार ने कहा कि कंपार्टमेंट परीक्षा सितंबर अंत तक आयोजित होने की संभावना है. बोर्ड ने ये भी कहा है कि परीक्षा के लिए सभी आवश्यक सावधानी बरती जाएगी. बोर्ड का इरादा इस बार 1278 परीक्षा केंद्र रखने का है, जबकि पिछले साल 575 था. इस साल ये दोगुने से ज्यादा होगा. सीबीएसई इस वर्ष महामारी के कारण केवल 12 छात्रों को एक ही कक्षा में बैठने की व्यवस्था करेगा. कोर्ट ने सीबीएसई को निर्देश दिया कि वह सुनवाई की अगली तारीख से पहले हलफनामा दाख‍िल करे.