भवन निर्माण विभाग पूर्व मंत्री के बंगले का ताला तोड़कर सामान बाहर फिकवाने की तैयारी में….दंबगई पर उतर चुके हैं नेता…..सबक सिखाने की तैयारी

भवन निर्माण विभाग पूर्व मंत्री के बंगले का ताला तोड़कर सामान बाहर फिकवाने की तैयारी में….दंबगई पर उतर चुके हैं नेता…..सबक सिखाने की तैयारी

पटना. पूर्व मंत्री जय कुमार सिंह को सबक सिखाने की तैयारी हो रही है. जय कुमार सिंह के बंगले का ताला तोड़ कर सामान बाहर निकालने और वहां सरकारी ताला लगाने की तैयारी हो रही है. बिहार सरकार के भवन निर्माण विभाग ने इस संबंध में पत्र जारी कर दिया है।
जय कुमार सिंह पिछली सरकार में मंत्री थे. इस नाते उन्हें 43, हार्डिंग रोड का सरकारी बंगला दिया गया था. पिछले नवंबर में हुए चुनाव में जय कुमार सिंह चुनाव ही हार गये. नतीजतन वे मंत्री तो क्या विधायक भी नहीं रहे. लिहाजा सरकारी नियमों के मुताबिक उन्हें मंत्री का बंगला खाली कर देना चाहिये था. लेकिन दबंगई दिखाने पर उतरे जय कुमार सिंह ने सरकारी बंगला खाली नहीं किया।

पूर्व मंत्री जय कुमार सिंह की दबंगई से परेशान बिहार सरकार के भवन निर्माण विभाग ने उनके खिलाफ मामला दर्ज किया है. भवन निर्माण विभाग की ओर से जारी पत्र के मुताबिक उनके खिलाफ बिहार सरकारी परिसर किराया वसूली एवं बेदखली अधिनियम-1956, बिहार अधिनियम संख्या-20, 1956 और संशोधन विधेयक के तहत मामला दर्ज किया गया था. इसमें जय कुमार सिंह पर आरोप लगाया गया था कि उन्होंने सरकारी बंगले पर अवैध कब्जा कर रखा है।

बिहार सरकार के भवन निर्माण विभाग की ओर से जारी पत्र के मुताबिक जय कुमार सिंह को एक मार्च को पत्र भेजकर उनसे ये पूछा गया कि वे सरकारी बंगले को क्यों नहीं खाली कर रहे हैं. लेकिन जय कुमार सिंह ने उसका भी जवाब नहीं दिया. प्रशासन के सारे नियम कायदे कानून जय कुमार सिंह की दबंगई के सामने फेल हो गये।

जय कुमार सिंह की दबंगई से त्रस्त भवन निर्माण विभाग ने उन्हें जबरन सरकारी बंगले से बाहर निकालने का आदेश पारित कर दिया है. दरअसल सुप्रीम कोर्ट ने 2007 में ही सरकारी बंगलों को लेकर आदेश दिया था. जिसमें अवैध कब्जा करने वालों को जबरन घर से बाहर निकालने की अनुमति दी गयी थी. सुप्रीम कोर्ट के उसी आदेश के आलोक में भवन निर्माण विभाग ने पूर्व मंत्री जय कुमार सिंह को सरकारी बंगले से बलपूर्वक निष्कासन का आदेश दे दिया है।

भवन निर्माण विभाग ने पटना के जिलाधिकारी को लिखे गये पत्र में मजिस्ट्रेट औऱ पुलिस बल की तैनाती करने की मांग की है. मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में भवन निर्माण विभाग के पदाधिकारी जय कुमार सिंह के बंगले का ताला तोड़ेगे. उनके सामान को बाहर निकालने के बाद उस बंगले में सरकारी ताला मारा जायेगा।

दरअसल जय कुमार सिंह को मंत्री रहते जो सरकारी बंगला मिला था वह मंत्रियों के लिए तय बंगला है. नये मंत्रिमंडल के गठन के बाद उसे दूसरे मंत्री को आवंटित कर दिया गया है. जिस मंत्री को ये बंगला मिला है वे बेघर होकर भटक रहे हैं. वहीं जय कुमार सिंह ने अवैध रूप से बंगले पर कब्जा जमा रखा है. लगातार मिल रही शिकायत के बाद सरकार ने जय कुमार सिंह से जबरन बंगला खाली कराने का आदेश जारी किया है।