अमेरिका में कोरोना से 1.34 लाख मौतें, पहली बार मास्क पहनकर जनता के सामने आए डोनाल्ड ट्रंप

अमेरिका में कोरोना से 1.34 लाख मौतें, पहली बार मास्क पहनकर जनता के सामने आए डोनाल्ड ट्रंप

विश्व. अमेरिका में कोरोना विस्फोट से 1.34 लाख मौतों के बाद आखिरकार राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को भी मास्क पहनना पड़ा। कई महीनों तक फेस मास्क लगाने से इऩकार करते रहे ट्रंप आखिरकर शनिवार को पहली बार नाक और मुंह ढंके नजर आए। घायल सैनिकों को देखेने के लिए वॉल्टर रीड पहुंचे ट्रंक ने काले कलर का मास्क लगाया था। 

ट्रंप ने मास्क पहनने को लेकर मीडियाकर्मियों से कहा, ''जब आप हॉस्पिटल में होते हैं, खासकर तब जब आप ऐसे लोगों से बात कर रहे हैं जो ऑपरेशन टेबल से आए हैं, तो मास्क पहनना अच्छा है। मैंने कभी मास्क का विरोध नहीं किया है, लेकिन मेरा मानना है कि सही समय और स्थान पर इसका प्रयोग करना चाहिए।'' 

इससे पहले प्रेस कांन्फ्रेंस, कोरोना वायरस टास्क फोर्स अपडेट, रैली और जनसभाओं में, ट्रंप कभी मास्क पहने नजर नहीं आए। सीएनएन की एक रिपोर्ट के मुताबिक ट्रंप ने काफी लॉबिंग के बाद यह फैसला किया है। कई विशेषज्ञों ने राष्ट्रपति को सलाह दी कि उनके मास्क पहनने से उनके समर्थक भी ऐसा करने के लिए प्रोत्साहित होंगे। 

अमेरिका दुनिया में सबसे अधिक कोरोना प्रभावित देश है। शुक्रवार को अमेरिका में करीब 69 हजार केस सामने आए। अभी तक 30 लाख से अधिक लोग संक्रमित हो चुके हैं और 1.34 लाख लोग जान गंवा चुके हैं।

कोरोना वायरस से बचाव के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन सहित दुनिया भर के हेल्थ एक्सपर्ट मास्क पहनने की सलाह दे रहे हैं। मास्क के अलावा सोशल डिस्टेंशिंग, बार-बार हाथों को साबुन से धोना या सैनिटाइजर्स से साफ करना भी इस महामारी की चपेट में आने से बचाता है।